Atal की विरासत की नहीं, अवसरवादी है आज की भाजपा

May 2, 2024 - 14:21
 0
Atal की विरासत की नहीं, अवसरवादी है आज की भाजपा

आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पर राज्यसभा सांसद, पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री राजीव शुक्ला जी ने पत्रकार वार्ता को सम्बोधित किया। पत्रकार में वार्ता में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव सह प्रभारी उ0प्र0 श्री राजेश तिवारी, राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री अभय दुबे, उ0प्र0 कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन पूर्व मंत्री डॉ0 सी0पी0 राय जी मौजूद रहे।

पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए राज्यसभा सांसद श्री राजीव शुक्ला जी ने कहा कि यह चुनाव सत्ता परिवर्तन का है। बीते दो चरणों के मतदान से यह जाहिर हो गया है कि मोदी सरकार के खिलाफ जबरदस्त अंडर करंट है। 400 पार का नारा अब प्रधानमंत्री जी खुद ही अपने भाषणों में इस्तेमाल नहीं करते। 400 पार तो छोड़िए मोदी जी ने अब मोदी की गारंटी की बात भी कहनी बंद कर दी है और सच तो यह है कि वह फिर अपनी पुरानी बात हिन्दू मुसलमान पर आ गये हैं।

दुर्भाग्य यह है कि भाजपा के राष्ट्रीय स्तर के नेता भी कांग्रेस के घोषणा पत्र ‘‘न्याय पत्र’’ को लेकर झूठ फैला रहे हैं। राजनीति में शुचिता, मर्यादा, को एकदम खत्म कर दिया है इन लोगों ने। उन्होंने कहा कि अटल जी की विरासत को भी भाजपा ने भुला दिया है।

श्री शुक्ल ने कहा कि आज की भाजपा कहती है कि इस देश में जो हुआ सब 2014 के बाद ही हुआ, यह लखनऊ शहर भी 2014 के बाद बना। इस देश का तमाम विकास 2014 के बाद हुआ है। सच यह है कि देश के विकास में सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों का योगदान है।

अपने पुरोधाओं को भूल परायों पर भरोसा

श्री राजीव शुक्ला ने कहा कि अटल बिहारी बाजपेई से हमारी सैद्धांतिक असहमतियां थी मगर भारतीय जनता पार्टी आज अपने ही नेता अटल बिहारी बाजपेई, मुरली मनोहर जोशी जैसे नेताओं का नाम तक नहीं लेती ना ही प्रचार में उनका कहीं फोटो भी दिखाई देता है। श्री शुक्ला ने कहा कि भाजपा अपने कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर रही है और आयातित नेताओं को टिकट बांट रही है। जैसे हरियाणा में 10 में 6 टिकट बाहर से आये नेताओं को दिया गया। आज भी लगभग 100 से 150 टिकट दूसरी पार्टी के नेताओं को दिये गये हैं। मंत्रिमंडल में नेताओं के बजाय अफसरों को मंत्री बनाया जा रहा है। सभी महत्वपूर्ण मंत्रालय पूर्व अफसरों के पास हैं।

श्री शुक्ला ने कहा कि दो बीते चरणों के चुनाव में वोटों का प्रतिशत कम रहने का अर्थ है कि भाजपा कार्यकर्ता ही मोदी जी की भाजपा के खिलाफ खड़ा हो गया है। साथ ही महंगाई और बेरोजगारी को लेकर भी आम मतदाता मोदी सरकार से नाराज है।
 
मोदी जी 10 साल अपना किया हुआ कोई भी वादा पूरा नहीं कर पाये। प्रतिवर्ष 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा था लेकिन 20 लाख भी नहीं दे पाये। 30-40 रूपये में डीजल-पेट्रोल देने की बात कही थी और आज पेट्रोल-डीजल की कीमतें 100 के करीब पहुंच गई। सच यह है कि भाजपा का कार्यकर्ता खुद ही अपनी सरकार के कार्यों से संतुष्ट नहीं है, इसलिए वह विरोध स्वरूप घर से निकल नहीं रहा है।

चुनावी चंदे के लिए लोगों की जिन्दगी से खिलवाड़ वैक्सीन पर केन्द्र सरकार जवाब दे।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजीव शुक्ला जी ने कहा कि कोवीशील्ड वैक्सीन का मामला बहुत ही गंभीर है। चुनावी चंदे के लिए लोगों की जिन्दगी से खिलवाड़ किया गया है। यूके की अदालत में कावीशील्ड वैक्सीन बनाने वाली कंपनी ने यह स्वीकार किया है कि वैक्सीन लगने की वजह से खून के थक्के जम रहे हैं और प्लेटलेट्स भी गिर रहे हैं जिसकी वजह से हार्ट अटैक व स्ट्रोक का खतरा बढ़ गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय को आगे आकर इस मसले पर अपना स्पष्टीकरण देना चाहिए।

चंदे का धंधा चरम पर

श्री शुक्ला ने बताया कि इलेक्टोरल बांड स्कीम लाने के पहले आर0बी0आई0 ने 2 जनवरी 2017 को फाइनेंस मिनिस्ट्री के ज्वाइन सेक्रेटरी को इस योजना के खिलाफ अपनी आपत्ति दर्ज कराई थी। उन्होंने कहा कि 26 मई 2017 को इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया ने लॉ एण्ड जस्टिस मिनिस्ट्री को एक पत्र लिखकर गंभीर आपत्ति दर्ज कराई थी कि जो फाइनेंस एक्ट 2017 इलेक्टोरल बांड स्कीम के लिए इनकम टैक्स एक्ट, कंपनी एक्ट और रिप्रजेंटेशन ऑफ पीपल एक्ट (आर.पी.) एक्ट में जो संशोधन किया जा रहा है वह पारदर्शी प्रणाली के लिए बेहद गंभीर है। उन्होंने तो यहां तक कहा था कि चुनावी चंदे के लिए कई शेल कंपनियां बन जायेंगी।

श्री शुक्ला ने कहा कि इलेक्टोरल बांड स्कीम में कई शेल कंपनियों से चंदा लिया गया। चंदा लिया-धंधा दिया, धंधा देकर चंदा लिया और अब तो मीडिया में भी आ रहा है कि ईडी, सीबीआई का छापा मारा और चंदा लिया। यह भाजपा के 8 हजार करोड़ रूपये से अधिक इलेक्टोरल बांड के सिर्फ चंदे का सवाल नहीं है। इस गोरख धंधे में 4 लाख करोड़ रूपये का धंधा चंदा लेकर दिया गया है।

अनैतिकता में लिप्त लोगों को भाजपा दे रही है टिकट

श्री शुक्ला ने यह भी कहा कि नैतिकता की बात करने वाली भाजपा ने जानते हुए भी देवेगौडा परिवार से जेडीएस के टिकट पर एनडीए प्रत्याशी के रूप में प्रज्वल रेवन्ना को चुनाव लड़ाया। कर्नाटका के शर्मसार कर देने वाले घृणित सेक्स स्कैंडल में जेडीएस सांसद प्रज्वल रेवन्ना की शिकायत 2023 में होलनरसीपुरा से भाजपा उम्मीदवार रहे देवराज गौडा ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बी0वाई विजयेंन्द्र को पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने कहा था कि एक पेन ड्राइव में 2976 आपत्तिजनक वीडियो हैं। भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को जब इस कांड के बारे में पहले से पता था तब भी 14 अप्रैल 2024 को मैसूर की रैली में मोदी जी उक्त आरोपी को आशीर्वाद दिया।  

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow